Share
भीष्म BACK

प्रिय मित्रों, प्राचीन युग के सुप्रसिद्ध ग्रंथ महाभारत और उसके पात्रों से हम सभी अच्छी तरह से परिचित हैं। महाभारत की कथा भीष्म पितामह, विदुर, पाँच पांडव, कौरव, श्री कृष्ण, कर्ण, अर्जुन, आचार्य द्रोण, कुलगुरु कृपाचार्य... जैसे अनेक पात्रों से भरी पड़ी है। इन सभी पात्रों की अपनी मौलिक विशषताएँ हैं। यदि इन महान पुरुषों के जीवन चरित्र को यथार्थ रूप से समझा जाए तो वह हमं जीवन मं उपयोगी साबित होगा। ऐसे उम्दा उद्देश्य के साथ हमारे प्रिय अक्रम यूथ के इस अंक मं महाभारत के इन महान पुरुषों मं सब से अग्रणी भीष्म पितामह का परिचय देने का और उनके जीवन के महत्वपूर्ण प्रसंगों का वर्णन करने का प्रयास किया गया है। आपके मन मं सवाल उठे गा कि भीष्म पितामह ही क्यों? जबकि महाभारत की कथा मं अन्य कितने ही प्रभावशाली पात्र हैं। लेकिन मित्रों, जीवन मं हर क्षत्र मं सफलता पाने के लिए आवश्यक गुणों से संपन्न भीष्म पितामह का व्यक्तित्व सब से निराला है। वे कुरु साम्राज्य के एक अजेय योद्धा, विद्वान, कुशल राजनीतिज्ञ, सत्य और धर्म के समर्थक और अन्य असंख्य गुणों से संपन्न एक मजबूत स्तंभ के समान हैं। आशा है कि ऐसे कइं प्रतिभा से युक्त महापुरुष को समर्पित यह अंक आपको रुचिकर और रोमांचक लगगा और साथ ही जीवन मं प्रेरणादायक साबित होगा। - डिम्पल भाई महता